What do you understand by press act and freedom of newspapers? | प्रेस अधिनियम और समाचार पत्रों की स्वतंत्रता से आप क्या समझते हैं?

आप यहां प्रेस अधिनियम और समाचार पत्रों की स्वतंत्रता को समझने आए हैं। पत्रकारिता और कानून का सम्बन्ध आधारभूत सामाजिक समीकरण का साक्ष्य देता है।

What is the latest method of decoration and layout of a newspaper? | समाचारपत्र की साजसज्जा और रूप विन्यास की आधुनिकतम विधि क्या है ?

समाचार-पत्रों में सौन्दर्य (समाचारपत्र की साजसज्जा) लाने के लिए परिवर्तनशीलता का सिद्धात लागू किया जाता है अर्थात् जो प्रतिपल परिवर्तित हो |

What is journalism as the fourth pillar and What is the concept of free press? | चौथे स्तंभ के रूप में पत्रकारिता क्या है और स्वतंत्र प्रेस (फ्री प्रेस) की अवधारणा क्या है?

प्रैस की स्वतन्त्रता (फ्री प्रेस )हर कीमत पर रहनी चाहिए, क्योंकि लोकतान्त्रिक देश में प्रैस की स्वतन्त्रता मायने रखती है।

What is the definition of cartoon art? | कार्टून कला की परिभाषा क्या होती है ?

आधुनिक युग में कार्टून विहीन पत्र-पत्रिका की परिकल्पना नहीं। की जा सकती। कार्टून अत्यन्त हास्योत्पादक, व्यंग्यात्मक, रोचक होता है। कार्टून का शाब्दिक अर्थ तो किसी चित्र का रफ डिजाइन करना या कच्चा खाका बनाना है। कार्टून का प्रारम्भ कब हुआ इस बारे में विद्वानों में मतभेद हैं। 

सम्पादन का उत्कृष्ट नमूना क्या होता है? | What is an excellent piece of editing?

मूलतः सम्पादकीय पृष्ठ विचार पृष्ठ है जिसमें सम्पादक की अपनी विचारधारा को साकार रूप मिलता है। श्री के.पी. नारायण के अनुसार सम्पादकीय पृष्ठ में लेख इस तरह लिखे जाते हैं कि जनमत के निर्माताओं और उन लोगों को प्रभावित कर सकें जो कि नीति के सन्दर्भ में वास्तविक अर्थों में महत्त्वपूर्ण होते हैं।

आमुख का शाब्दिक अर्थ क्या है? और आमुख की विशेषताएं क्या होनी चाहिए? | What is the literal meaning of Amukh? and what should be the characteristics of amukh?

आमुख (इन्ट्रो) का अर्थ है- enterence अर्थात् समाचार या अन्य रचना में कोई तो enterence दिया ही जायेगा। विषय-प्रवेश या आमुख ही इन्ट्रो है। हर समाचार की इन्ट्रो होती है।

संपादन का अर्थ और संपादन के प्रमुख सिद्धांत क्या हैं? | What is meaning and main principles of editing?

सम्पादन के आधारभूत सिद्धान्त ‘सम्पादन’ शब्द का अर्थ है- ठीक करना / प्रकाशित करना। यह अंग्रेजी शब्द एडिट (Edit) का हिन्दी पर्याय है।

What is title art and its types and importance? | शीर्षक कला और इसके प्रकार और महत्व क्या है?

लेख, निबन्ध, कहानी, उपन्यास, समाचार सभी शीर्षक होते हैं। शीर्षक समाचार का प्राण तत्त्व है। कहा तो यह भी जाता है कि समाचार-पत्र नहीं बिकते, उनके शीर्षक बिकते हैं।

What is news writing art? | समाचार लेखन कला क्या है?

‘समाचार किसी अनोखी या असाधारण घटना की अविलम्ब सूचना को कहते हैं जिसके बारे में लोग प्रायः कुछ न जानते हों, लेकिन जिसे जानने में तुरन्त जानने की अधिक से अधिक लोगों की रुचि हो।